NEET Kya Hai और NEET का Exam Crack कैसे करें 2021

आज हम जानेंगे कि NEET Kya Hai और NEET के बारे में पूरी जानकारी। जी हां हम सभी आगे बढ़ना चाहते हैं और इसके लिए अपने पसंदीदा फील्ड को चुनते हैं ताकि अपनी पसंद का करियर बना सकें।

इसके लिए हमें जमकर के पढ़ाई भी करनी होती है ताकि अच्छी परफॉरमेंस से हमारे अचीवमेंट्स भी हाई हो सके तो इस पूरे प्रोसेस में कोई डॉक्टर बनना चाहता है तो कोई इंजीनियर, कोई राइटर बनना चाहता है तो कोई डिजाइनर।

इस तरह से हर फील्ड के लिए अलग अलग टर्म्स एंड कंडीशंस लागू होती है जिन्हें पूरा करने के बाद ही हमें हमारा मनपसंद करियर ऑप्शन मिल पाता है तो आप में से बहुत से लोग डॉक्टर बनना चाहते होंगे और उसके लिए कौन सा प्रोसेस फॉलो किया जाता है ये जानना चाहते होंगे।

इसीलिए आज की पोस्ट मैं आपके लिए लेकर आया हूँ जिसमें आपको डॉक्टर बनने के लिए कंपल्सरी टेस्ट के बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी। यानि आज इस पोस्ट में आप जानेंगे कि NEET का Exam कैसे आपको डॉक्टर बना सकता है।

तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले ये जानते हैं कि नीट क्या है।

NEET Kya Hai ?

Neet kya hai

NEET की फुल फॉर्म National Eligibility cum Entrance Test होती है और ये भारत में मेडिकल एजुकेशन से जुड़े कोर्सेस एमबीबीएस और बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए एक क्वालिफाइड एंट्रेंस एग्जाम है। इस एग्जाम को क्लियर कर लेने वाले स्टूडेंट्स को इन कोर्सेस में एडमिशन मिल जाता है।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानि की एनडीए नीट एग्जाम कंडक्ट करती है और नीट एग्जाम 2 लेवल पर होता है।

  • यूजी
  • पीजी

नीट यूजी लेवल पर एमबीबीएस और बीडीएस जैसे मेडिकल कोर्सेस के लिए एंट्रेंस टेस्ट होता है जबकि नीट पीजी लेवल में एमएस और एमडी जैसे मेडिकल डिग्री कोर्सेस में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट होता है।

ये एग्जाम हर साल देश के लगभग चार सौ 79 मेडिकल कॉलेजेस में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है।

अब ये जानना जरूरी है कि नीट की जरूरत क्यों पड़ी जबकि इससे पहले भी मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट हुआ करते थे

NEET की जरूरत क्यों पड़ी ?

तो इसका जवाब यह है कि नीट से पहले भारत में मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अलग अलग 90 एग्जाम्स हुआ करते थे।

इनमें से एआईपीएमटी सीबीएसई यानी की सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा करवाया जाता था और हर स्टेट भी अलग अलग मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट करवाता था तो इस सिचुएशन में हर स्टूडेंट को लगभग 7 से 8 एंट्रेंस एग्जाम देने पड़ते थे जिससे स्टूडेंट्स को ना केवल बहुत प्रेशर में रहते हुए परफॉर्म करना होता था बल्कि हर एग्जाम के साथ अप्लीकेशन फीस और एंट्रेंस टेस्ट में अपीयर होने के लिए बहुत सारा खर्चा भी हुआ करता था।

तो इस फाइनेंशियल बर्डन को हटाने और टाइम और एफर्ट को वेस्ट होने से रोकने के लिए नीट लाया गया।

अलग अलग एग्जाम को क्लियर करने के लिए अलग अलग सिलेबस को पूरा करने जैसे कि स्ट्रेस को भी नीट एग्जाम से दूर कर दिया है क्योंकि मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन के लिए सिर्फ एक एग्जाम यानि की नीट को क्लीयर करने की ही जरूरत है तो इस तरीके से नीट के एआईपीएमटी और स्टेट लेवल सीईटी जैसे दिल्ली पीएमटी, एमएच सीईटी और आर-पीएमटी, WBJEE और EAMCET को रिप्लेस कर दिया है और ये काफी अच्छी बात है।

आगे नीट से जुड़ी कुछ इम्पॉर्टेंट बातों की अगर हम बात करे तो नीट यूजी 2019 के 5 मई को हुआ और 5 जून 2019 को इसका रिजल्ट डिक्लेयर कर दिया गया। यह एक सिंगल स्टेज एग्जाम है और यह ऑफलाइन होता है।

आने वाले सालों में ये एग्जाम ऑफलाइन होगा या ऑनलाइन ये अभी तय नहीं है। वैसे ये भी पॉसिबिलिटी है कि आगे आने वाले नीट एग्जाम साल में एक बार होने की बजाए दो बार हो सकते हैं।

इस एग्जाम के ड्यूरेशन 3 घंटे की होती है। इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चंस होते हैं और निगेटिव मार्किंग भी होती है।

इस एग्जाम में बैठने के लिए ट्वेल्थ में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी या बायो टेक्नोलॉजी सब्जेक्ट्स होने चाहिए और इस एग्जाम में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी यानि बॉटनी या जूलोजी सब्जेक्ट्स के क्वेश्चन्स भी शामिल होते हैं।

NEET में अपीयर होने के लिए मैथ्स होना जरूरी नहीं होता है। इस एग्जाम को देने के लिए स्टूडेंट की उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए जबकि इस एग्जाम के लिए कोई अपर एज लिमिट नहीं है।

इस एग्जाम में अपीयर होने के लिए अनरिजर्व कैटेगरी के कैंडिडेट्स को क्लास ट्वेल्थ में फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी बायोटेक्नोलॉजी सब्जेक्ट्स में मिनिमम फिफ्टी परसेंट मार्क्स लाना जरूरी होता है जबकि ओबीसी एससी और एसटी कैंडिडेट्स के लिए ये 40 प्रतिशत है।

इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए कैंडिडेट कितने भी अटैम्प्ट ले सकता है। कैंडिडेट का इंडियन होना जरूरी है।

नीट एग्जाम से जुड़ी इम्पॉर्टेंट इन्फॉर्मेशन लेने के बाद इसकी प्रिपरेशन से जुड़ी कुछ जरूरी बातें करना भी बनता है।

इन्हें भी पढ़ें:-

NEET Exam के Preparation से जुडी जरुरी बातें।

सबसे पहले तो आप अपने करियर से जुड़ा ये सबसे इम्पॉर्टेंट डिसीजन अच्छे से सोच समझ कर लीजिए कि क्या वाकई में आप अपने आपको डॉक्टर के तौर पर देखना चाहते हैं।

अगर जवाब Yes है तो पूरी तरीके से हां…पुरे तरीके से अपने आपको इस एग्जाम के लिए तैयार करने में जुट जाइए क्योंकि अपने सपने को हकीकत बनाने का दम सिर्फ आप ही में हैं इसीलिए अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को क्रैक करने पर लगाइए।

इसके लिए ट्वेल्थ स्टैंडर्ड का एग्जाम भी आपको अच्छे से क्लियर करना चाहिए और गौर कीजिएगा कि आपकी स्कूल एजुकेशन पर जितनी पकड़ होगी उतना ही आसान आपके लिए इस एग्जाम को क्रैक करना होगा।

इसीलिए फिजिक्स, केमिस्ट्री और बायोलॉजी के बेसिक्स को क्लियर करते हुए ही आपको आगे बढ़ना होगा।

टाइम मैनेज करना सीखिए ताकि NEET को क्रैक करने और अपने सपनों को रियल करने के प्रोसेस में आपको टाइम की कमी न महसूस हो।

अगर आप पहले भी NEET एग्जाम दे चुके हैं और अगले NEET की तैयारी में जुटे हैं तो याद रखिए लास्ट में होने वाली मिस्टेक्स का एनालिसिस जरूर कीजिए कि अगर आपने Exam Crack नहीं किया तो क्या रीजन रहा ताकि अगले टेस्ट में आप फिर से वही मिस्टेक रिपीट ना करें जिनकी वजह से आप एग्जाम को क्रैक नहीं कर पाए थे।

नीट क्लियर करने के लिए अपने विजन को क्लियर रखिए ऑथेंटिक बुक्स की हेल्प लीजिए। प्रैक्टिस करते रहिए और अपनी हेल्थ का भी खयाल रखिए ताकि आप अच्छे से परफॉर्म कर सकें।

कम से कम 6 से 7 घंटे की नींद जरूर लीजिए क्योंकि बिना अच्छी और पूरी नींद के आप किसी भी टॉपिक को अच्छे से समझ नहीं सकते हैं।

इसका नेगेटिव इम्पैक्ट आपकी बॉडी और माइंड पर पड़ेगा वो अलग तो खुद को एक कमरे में बंद करके दिन रात पढ़ते रहने की बजाय सही टाइम टेबल बनाइए और अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को क्रैक करने पर लगा दीजिए।

इसके लिए आप कुछ नॉर्मल रूटीन को फॉलो करने की जरूरत होगी ना कि स्ट्रेस और प्रेशर से भरे रुटीन की। इसीलिए हेल्दी माइंड और बॉडी के साथ आप जुट जाइए Next NEET एग्जाम के लिए सही गाइडेंस के साथ सही Direction में चलते हुए इस एग्जाम Crack कीजिए।

इन्हें भी पढ़ें:-

Conclusion

So friends ये थी NEET Kya Hai और NEET के Exam को कैसे Crack करें इसके बारे आपको जानकारी मिल गई होगी।

अगर आपको यह पोस्ट “NEET Kya Hai” अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी जरूर शेयर ताकि आपके बाकी दोस्त भी इस जानकारी से वंचित न रह पाएं।

Thanks for reading

You may also like...