Marketing Manager Kaise Bane – Comprehensive Guide 2021

Marketing Manager Kaise bane – आज हर कोई चाहता कि वो बड़ी कंपनी में अच्छे पेस स्किल पर काम करे जिसके लिए वे कई सारे फील्ड्स में ट्राय करते हैं। मार्केटिंग मैनेजमेंट एक ऐसा ही फील्ड है जिसमें बहुत सारे लोग अपना करियर बनाना चाहते हैं।

इस ट्वंटी फर्स्ट सेंचुरी में हर आदमी एक कस्टमर है। हर कोई बाजार से जुड़ा है। सभी को अपने जीने के लिए बेसिक सामान की जरूरत होती है जिसके लिए वे बाजार की तरफ देखते हैं।

अगर दुनिया को एक बड़े मार्केट प्लेस की तरह देखें तो समझ आएगा कि मार्केट बनाने से लेकर उसमें सामान बेचने तक कई सारे लोग काम करते हैं जिनमें से मार्केटिंग मैनेजर का अहम रोल होता है।

आज हर बड़ी कंपनी में मार्केटिंग मैनेजर की डिमांड है। अगर आप मार्केटिंग मैनेजर बनना चाहते हैं तो इस पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें क्योंकि आज की इस पोस्ट में हम आपको बताएंगे कि Marketing Manager क्या करते हैं।

Marketing Manager कैसे बन सकते हैं और अपने Carrier को Marketing Manager के तौर पर कैसे Successful बनाया जा सकता है तो बने रहें हमारे साथ अंदर तक और Post के अंत तक।

तो चलिए शुरू करते हैं।

Marketing Manager क्या है?

Marketing Manager Kaise Bane - Comprehensive Guide 2021

तो चलिए जानते हैं कि मार्केटिंग मैनेजर का क्या रोल होता है। मार्केटिंग मैनेजर एक हाई प्रोफाइल जॉब है जिसमें कंपनी की मार्केटिंग की गतिविधियों को देखा परखा जाता है।

एक मार्केटिंग मैनेजर अपनी कंपनी के प्रोडक्ट्स के लिए कस्टमर बेस खोजने और डेवलप करने के लिए जिम्मेदार होता है।

मार्केट रिसर्च टीम और प्रोडक्ट डेवलपमेंट मैनेजर के साथ मिलकर मार्केटिंग मैनेजर कंपनी के मार्केटिंग प्लैन को डिजाइन करने और लागू करने का काम करते हैं।

आमतौर पर इस क्षेत्र में कई वर्षों के अनुभव की जरूरत होती है। मार्केटिंग मैनेजरों की आज कंपनी में बहुत प्रमाण हैं। कई कंपनियों के मार्केटिंग मैनेजर जॉब्स में ट्रेवल भी करना पड़ता है।

मार्केटिंग मैनेजर की ड्यूटी और स्पॉन्सर ब्रिटिश कंपनी के साइज पर डिपेंड करती हैं। वे मार्केटिंग के लिए बजट बनाने उन्हें अप्रूव करवाने विज्ञापन एजेंसियों के साथ काम करने और सेल्स और एडवर्टाइजिंग कॉन्ट्रैक्ट तैयार करने के लिए जिम्मेदार होते हैं।

वे हर तरह के एडवर्टाइजिंग पर नजर रखता है फिर चाहे वे टीवी प्रिंट मीडिया या ऑनलाइन एडवर्टाइजिंग ही क्यों न हो।

एक मार्केटिंग मैनेजर अपनी कंपनी के लिए मार्केटिंग स्ट्रैटिजी बनाता है ताकि कंपनी अपने ब्रैंड गोल को पूरा कर सके।

Marketing Manager Banne Ke Liye Kya jruri Hai?

तो चलिए अब जानते हैं कि एक मार्केटिंग मैनेजर बनने के लिए क्या क्या जरूरी है। अगर आप बिजनेस मैनेजमेंट या मार्केटिंग मैनेजमेंट में करियर बनाने के लिए और ऑनलाइन गाइडेंस चाहते हैं तो इसके लिए कई सारे तरीके हैं।

आगे हम कुछ तरीके बताएंगे जिनसे आप इन लाइन में कैसे एंटर करें और अपने करियर को एडवांस बनाएं ये जान पाएंगे।

1.Degree Parapt Karen

पहली बात डिग्री प्राप्त करें मार्केटिंग मैनेजर बनने के लिए कम से कम एक डिग्री की जरूरत होती है जिसमें बिजनेस मार्केटिंग एडवर्टाइजिंग कमरे केसेस या किसी और रिलेटेड फील्ड में बैचलर्स डिग्री की जरूरत होती है। इनमें से किसी ने भी बैचलर डिग्री लेकर आप मार्केटिंग मैनेजर की Minimum एलिजिबिलिटी पा सकते हैं।

कुछ कंपनियां ऐसी भी हैं जिसमें एमबीए डिग्री के साथ थोड़े एक्सपीरियंस की भी जरूरत पड़ सकती है। आप अपने स्किल्स को और बेहतर बनाने और अपने करियर के अच्छे डेवलपमेंट के लिए किसी बिजनेस कॉलेज में मैनेजमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम में भाग ले सकते हैं।

आप ऑनलाइन कोर्स के जरिये भी डिग्री पा सकते हैं। अमेरिका का Frame Mount college आपको आनलाइन कोर्स प्रोवाइड कराता है जिसमें 15 महीने में आप पूरा कोर्स करके डिग्री पा सकते हैं।

ऐसे और भी कई सारे प्लैटफॉर्म हैं जहां से आप मार्केटिंग मैनेजमेंट सीख सकते हैं और जिसके लिए आपको 3 या 4 साल का लंबा टाइम भी नहीं देना पड़ता है।

2.Anubhav Prapat Karen

दूसरी बात अनुभव प्राप्त करें। आप अपनी डिग्री कोर्स के दौरान कई तरह के इंटर्नशिप प्रोग्राम के जरिए मार्केटिंग मैनेजर का अनुभव ले सकते हैं और उसे अपनी बाहों में जोड़ सकते हैं जिससे प्लेसमेंट लेते वक्त या कहीं भी जॉब के लिए अप्लाई करते वक्त दूसरों से ज्यादा जानते होंगे।

आप अपने इंटर्नशिप के दौरान ज्यादा से ज्यादा सीखें जिससे आपको ज्यादा फायदा होगा जॉब लेते वक्त इंटर्नशिप के दौरान आप अच्छा नेटवर्क बना सकते हैं।

अपने फील्ड से जुड़े हुए लोगों के साथ जिससे जब आप फीचर में जॉब के लिए किसी भी कंपनी में जाएंगे तो ये लोग आपके काम आ सकते हैं।

3. Marketing Main Entry Level Job Dunde

तीसरी बात मार्केटिंग में एंट्री लेवल जॉब ढूंढें। एक डिजिटल मार्केटिंग के तौर पर कई सारे मार्केटिंग करियर ऑप्शंस होते हैं।

अपने स्किल्स को बढ़ाने और बेस्ट मार्केटिंग मैनेजर बनने के लिए मिनिमम एक्सपीरियंस पाने के लिए मार्केटिंग असिस्टेंट एडवर्टाइजिंग असिस्टेंट और सेल्स रिप्रेजेंटेटिव जैसे जॉब्स में कुछ साल काम करें।

जैसे ही मार्केटिंग मैनेजर लायक एक्सपीरियंस आपके पास हो जाए तो आप अपनी प्रमोशन के लिए अपने सीनियर के सामने ये बात रख सकते हैं कि आप कैसे इस पोस्ट के लिए एलिजिबल हो और कैसे आप इस डिपार्टमेंट में रहकर कंपनी के सक्सेस के लिए काम कर सकते हो।

4. Jruri Skills Sikhen

चौथी बात जरूरी स्किल्स सीखें। कोई भी कंपनी आपको क्यों जॉब देगी। अगर आपके पास एक स्किल नहीं है तो कंपनीज भी उन्हीं लोगों को अपने साथ जोड़ना चाहती हैं जिनके पास उस प्रोफाइल से रिलेटेड स्किल्स होते हैं। एक मार्केटिंग मैनेजर के पास स्टॉक कम्युनिकेशंस सेट्स और प्रेजेंटेशन स्किल्स होता है।

उन्हें क्रिएटिव होना चाहिए और एक ही साथ कई सारे प्रोजेक्ट्स को हैंडल कर सकने का भी टैलेंट होना चाहिए।

करेंट मार्केटिंग ट्रेंड्स की भी अच्छी समझ एक मार्केटिंग मैनेजर को होनी चाहिए। इन सबके अलावा लीडरशिप स्किल्स पर अपने आप को हायर फ्रेंड और मोटिवेट करने का भी हुनर होना चाहिए।

आज के मॉडर्न एरा में जहां टेक्नोलॉजी इतनी एडवांस हो गई है वहां एक मार्केटिंग मैनेजर के पास कंफर्ट स्किल्स तो होने ही चाहिए।

मार्केटिंग मैनेजर का करियर उन लोगों के लिए अच्छा है जिनके पास अच्छी कम्युनिकेशन स्किल्स और कुछ एक्सपीरियंस है मार्केटिंग का। इसलिए सक्सेस पाने के लिए एक्सपीरियंस की जरूरत है।

इसलिए एक बार फिर देखते हैं कि कौन कौन सी स्किल्स जरूरी हैं। राइटिंग एंड कम्युनिकेशंस क्रिएटिविटी प्लानिंग एंड एग्जिक्यूशन सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन सोशल मीडिया मैनेजमेंट कामन्स अंडर प्रेशर वेबसाइट ऑप्टिमाइजेशन पक्ष विवाद प्रोफेशनल मार्केटिंग एसोसिएशन से जुड़े

प्रोफेशन मार्केटिंग एसोसिएशन से जुड़कर आप एनएसडी में हो रहे नए बदलावों नए टेक्नॉलजीज के इस्तेमाल और प्रॉडक्शन के बारे में ज्यादा सीख और जान सकते हैं। ऐसे एसोसिएशन से जुड़ने पर आपको नए नए मौके मिलेंगे। आगे बढ़ने के लिए।

Marketing Manager किस Type के Roles के लिए Apply कर सकता है?

तो चलिए अब जानते हैं कि मार्केटिंग मैनेजर के तौर पर कौन कौन से रोल के लिए आप अप्लाई कर सकते हैं।

जैसा कि हमने जाना कि अगर आपको मार्केटिंग मैनेजर बनना है तो पहले आपको डिग्री हासिल करनी होगी जिससे आप मार्केटिंग फील्ड के लीडर बन सकें।

एक ही आदमी हर तरह के काम एक्सपर्ट नहीं हो सकता तो हर रोल के लिए अलग अलग स्किल्स की जरूरत होती है।

ऐसी ही मार्केटिंग मैनेजर की फील्ड के लिए भी बाकी फील्ड्स की तरह कई सारे रोल्स होते हैं जिन पर आप अपने इंट्रेस्ट और स्किल्स के हिसाब से जॉब के लिए अप्लाई कर सकते हैं जैसे कि

  • एडवरटाइजिंग डारेक्टर
  • अकाउंट एग्जिक्यूटिव
  • अकाउंट कॉर्डिनेटर
  • एडवर्टाइजिंग मैनेजर
  • कॉपीराइटर
  • आर्ट डायरेक्टर
  • क्रिएटिव असिस्टेंट
  • मार्केटिंग प्रमोशन स्पेशलिस्ट
  • क्रिएटिव डाइरेक्टर
  • मीडिया बाय
  • मीडिया प्लानिंग असिस्टेंट
  • मीडिया असिस्टेंट
  • मीडिया डाइरेक्टर
  • मीडिया रिसर्चर
  • मीडिया प्लानर
  • प्रोजेक्ट मैनेजर
  • प्रमोशंस डायरेक्टर
  • जूनियर प्रोजेक्ट डाइरेक्टर,
    प्रमोशंस असिस्टेंट
  • प्रमोशंस मैनेजर
  • प्रमोशंस कॉर्डिनेटर
  • क्रिएटिव मार्केटिंग असिस्टेंट
  • एडवर्टाइजिंग कॉर्डिनेटर
  • एडवर्टाइजिंग असिस्टेंट
  • असिस्टेंट मीडिया बायर
  • मार्केटिंग असिस्टेंट
  • ट्रैफिक मैनेजर
  • एडवर्टाइजिंग सेल्स रिप्रेजेंटेटिव्स
  • सीनियर कॉपी राइटर्स
  • असिस्टेंट अकाउंट एग्जिक्यूटिव
  • मार्केटिंग एंड प्रमोशन मैनेजर।

Marketing Management College

तो चलिए जानते हैं कि भारत में कौन कौन से कॉलेज हैं जहां से आप मार्केटिंग मैनेजमेंट का कोर्स कर सकते हैं।

भारत में कई सारे सरकारी और प्राइवेट कॉलेज हैं जहां से आप कोर्स कर सकते हैं लेकिन यहां हम आपको इन आईआरएफ रैंकिंग्स के हिसाब से टॉप टेन आईआईएम इंस्टिट्यूट्स के बारे में बताएंगे।

  1. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट अहमदाबाद।
  2. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट बैंगलोर
  3. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट कलकत्ता।
  4. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट लखनऊ
  5. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी बॉम्बे
  6. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट कोझिकोड
  7. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी खड़गपुर
  8. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी जैली
  9. इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी रुड़की
  10. जैन जेवियर लेबर रिलेशन इंस्टिट्यूट जमशेदपुर।

तो चलिए अब जानते हैं कि एक मार्केटिंग मैनेजर के तौर पर कौन कौन सी गलतियां आपको नहीं करनी हैं।

1. कभी भी सलाह लेने से शर्माएं नहीं।

मार्केटिंग एक ऐसा प्लैटफॉर्म है जहां हमेशा एक नियम नहीं चलता। अलग अलग सिचुएशंस में अलग अलग ऐक्शन और डिस्कशन लेने पड़ सकते हैं।

इसलिए अगर कोई डाउट या कन्फ्यूजन हो तो अपने टीम मेंबर से सलाह लेने से शर्माए नहीं। आपको एक बात हमेशा याद रखनी है कि आपको Marketing Manager के तौर पर आप जो भी फैसले करोगे।

उनसे सिर्फ आपका फायदा या नुकसान नहीं होने वाला बल्कि पूरी कंपनी पर उस Decision का Impact पड़ेगा।

2. बड़ा सोचें और Experiment करें।

Marketing एक बहते हुए पानी की तरह है यहाँ कभी भी एक जैसे हालात नहीं रहते तो अगर आपके Plans और Decisions सही है और इस बार Success मिल गई है तो जरूरी नहीं है कि अगली बार भी वही स्ट्रेटेजी काम कर जाए।

इसलिए Marketing फील्ड में आपको एक्सपेरिमेंट करते रहना है न्या और बडा सोचना हैं।

3. Data का Analysis करें।

ऐसी बहुत सी चीजें होती है जिन पर एक Marketer को ध्यान रखना पड़ता हैं जिनमें से एक है डाटा यानी कि आंकड़े।

आंकड़े अलग-अलग समय पर बदलते रहते है इसलिए आपको हमेशा प्रॉफिट का सोचना है किस काम को करने से कितना return आ सकता है ये भी आपको ध्यान रखना होगा।

4. Team Members की Importance को समझें। 

जैसा कि मैं आपसे पहले भी बोल चूका हूँ कि हर कोई हर काम में परफेक्ट नहीं होता है इसलिए आपके जो भी future प्लान्स है उन्हें अपने Team Members के साथ शेयर करें।

जब भी आप किसी बड़े प्रोजेक्ट पर काम करें तो Presentation को अपने Team मेंबर्स के साथ जरूर शेयर करें ताकि वे भी अपना पॉइंट बता सकें।

Read Also:-

Conclusion

So friends ये थी Marketing manager के बारे जानकारी कि Marketing Manager Kya Hai और Marketing Manager के कौनसे काम होते हैं।

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी जरूर शेयर ताकि आपके बाकी दोस्त भी इस जानकारी से वंचित न रह पाएं।

Thanks for reading

You may also like...