Firmware Kya Hai और Firmware Computer में कहां होता है?

इस पोस्ट में हम फर्मवेयर के बारे में बात करने वाले है कि Firmware Kya Hai और फर्मवेयर Computer में कहाँ Store होता हैं?

वैसे Computer में बहुत से प्रकार के Hardwares और Softwares होते हैं जिनकी मदद से कंप्यूटर यूजर द्वारा दिए गए कार्यो को करने में सक्षम हो पाता है।

हर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर किसी विशेष कार्य को पूरा करने के लिए बनाए जाते हैं। हम सभी ने हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के बहुत से नाम सुने होंगे।

लेकिन एक और चीज है जिसके उपयोग के बिना कंप्यूटर शुरू भी नहीं किया जा सकता और वो है Firmware.

Firmware का नाम तो आप सभी ने सुना ही होगा लेकिन क्या आपको पता है कि कंप्यूटर को शुरू करने में इसकी क्या भूमिका होती है नहीं ना।

अब तक तो हम बस यही सोचते आ रहे थे कि Computer Operating System और CPU की वजह से काम करता है लेकिन ये तो बस आधा अधूरा सच है।

Firmware बिना कंप्यूटर किसी काम का नहीं है। हां आपको ये जानकर हैरानी होगी कि Firmware का उपयोग केवल Computer में ही नहीं बल्कि बहुत से Electrical और Hardware Devices में भी इसका उपयोग किया जाता है।

जैसे Smartphone, Smart TV, Washing Machine, Smart Watch इत्यादि इसका काम भले ही छोटा सा होता है लेकिन ये हरेक मशीन डिवाइसेस के लिए बहुत इम्पॉर्टेंट है।

इसलिए आज के इस पोस्ट में आपको Firmware Kya Hai और ये कहां स्टोर हो कर रहता है इसके बारे में पूरी जानकारी दी जाएगी इसलिए पोस्ट को अंत तक जरूर पढ़ें।

तो चलिए बिना आपका समय लिए हम सबसे पहले बात करते है कि Firmware Kya Hai है।

Firmware को समझने के लिए आपको हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर को समझना जरूरी है। हार्डवेयर एक इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जो कंप्यूटर के वो भाग होते हैं जिन्हें हम छू सकते हैं और देख सकते हैं।

ये कंप्यूटर के फिजिकल पार्ट्स होते हैं जिसकी मदद से कंप्यूटर की बॉडी तैयार की जाती है।

Hardware का एग्जाम्पल है Monitor, keyboard, mouse, cpu इत्यादि Software instructions और प्रोग्राम्स का एक सेट होता है जो एक विशेष कार्य को करने के लिए कंप्यूटर को निर्देश देता है।

सॉफ्टवेयर यूजर को कंप्यूटर पर काम करने की योग्यता प्रदान करता है। ऑपरेटिंग सिस्टम सॉफ्टवेयर का मुख्य उदाहरण है हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर दोनों एक साथ मिलकर के कंप्यूटर के काम को पूरा करते हैं और यूजर को आउटपुट देते हैं।

अब हम आपको बताते हैं कि Firmware Kya Hai?

Firmware Kya Hai

firmware Kya Hai

फर्मवेयर एक प्रकार का सॉफ्टवेयर है जो हार्डवेयर के एक हिस्से में जुड़ा होता है।

फर्मवेयर में किसी भी हार्डवेयर के बेसिक फंक्शन पर काम करने के इंस्ट्रक्शंस प्रोग्राम होते हैं। इसीलिए हम फर्मवेयर को हार्डवेयर के लिए सॉफ्टवेयर भी कह सकते हैं।

Firmware एक ऐसा प्रोग्राम है जो हार्डवेयर के साथ जुड़कर आता है यानि कि फर्मवेयर को किसी भी हार्डवेयर के मैन्युफैक्चरिंग के समय ही उसमें स्थापित किया जाता है जैसे कि Keyboard, harddrive, graphic, card printer या इसके अलावा या आपके किसी भी Home Appliances जैसे TV, Microwave, Oven, Washing Machine इत्यादि में भी Firmware जुड़ा होता है।

Firmware सॉफ्टवेर का छोटा सा टुकड़ा है जो हार्डवेयर का काम करता है। ये सभी Hardware devices को सिस्टम के अन्य डिवाइसेस के साथ कम्युनिकेट करने और Basic Input, Output Tasks को Perform करने के लिए instruction देता है।

Firmware के बिना हमारे द्वारा उपयोग किये जाने वाले अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसेस काम नहीं कर सकते क्योंकि हर छोटे बड़े इलेक्ट्रॉनिक उपकरण में एक सॉफ्टवेयर इंस्टॉल किया गया है जिसकी मदद से वो यूजर द्वारा दिए गए इनपुट्स को समझता है।

उसके अनुसार काम करता है जिसका एक साधारण सा उदाहरण है वाशिंग मशीन। जिसमें कुछ बटन होते हैं जिसका इस्तेमाल करके मशीन को कंट्रोल किया जाता है और हम अपनी जरूरत के अनुसार उससे काम करवाते हैं।

लेकिन क्या आपने सोचा है कि जैसे ही हम कोई बटन दबाते हैं तो मशीन कैसे समझ जाती है कि कितनी स्पीड से या फिर किस मोड में काम करना है वो इसलिए समझ जाती है क्यूंकि उसके अंदर एक मेमरी रहती है जिसमें Firmware को इंस्टाल किया गया रहता है और उसी सॉफ्टवेयर की वजह से मशीन हमारे इनपुट्स को समझ जाती है।

इसी तरह आपने कंप्यूटर का Bios देखा होगा वो भी एक Firmware है जो कंप्यूटर हार्डवेयर के ROM में इंस्टॉल रहता है।

कम्प्यूटर में आपरेटिंग सिस्टम को लोड करने से पहले Firmware सभी हार्डवेयर डिवाइस को चैक करता है कि वो सही सिचुएशन में है या नहीं और वो ठीक से काम भी कर रहे है या नहीं और उनमें कोई डिफेक्ट है या नहीं।

उसके बाद इस ऑपरेटिंग सिस्टम को रैम में लोड करके कंप्यूटर को कार्य करने की सिचुएशन में लाता है तो इसे समझने के बाद हम जानेंगे कि फर्मवेयर कंप्यूटर में कहां पर स्टोर रहता है।

Firmware कंप्यूटर में कहां पर स्टोर रहता है?

अब तक आपने ये जान लिया है कि Firmware Software के रूप में सीधे हार्डवेयर डिवाइस पर इंस्ट्रक्शन देने के लिए एक प्रोग्राम के रूप में लिखे जाते हैं लेकिन अब सवाल ये आता है कि Firmware वास्तव में एक डिवाइस पर कहां स्टोर किया जाता है।

Firmware आमतौर पर विशेष प्रकार की मेमरी में स्टोर होता है जिसे Flash ROM कहा जाता है। ROM जिसे Read Only Memory कहा जाता है।

इसमें Menufacture कंपनी के द्वारा केवल एक बार ही प्रोग्राम लिखा जाता है बाद में जरूरत पड़ने पर इसे दोबारा से Rewrite किया जा सकता है।

कंप्यूटर डिवाइस को हमारे इनपुट को समझने के लिए रोम की जरूरत होती है रोम में डेटा स्थायी रूप से स्टोर हो कर रहता है।

इसमें डेटा तब भी स्टोर होकर रहता है जब डिवाइस को पावर नहीं मिलता या जब डिवाइस बंद हो जाती है।

अगर रोम नहीं होता तो Firmware स्टोर नहीं किया जा सकता था और डिवाइस भी अपना काम नहीं कर पाता।

अन्य सॉफ्टवेयर की तरह Firmware का भी Updated version तैयार किया जाता है ताकि पहले से और भी ज्यादा बेहतर Performance दे सके।

चलिए अब हम जानेंगे कि फर्मवेयर अपडेट क्यों और कैसे करना चाहिए।

Firmware Update क्यों और कैसे करना चाहिए?

अभी के समय में हम किसी भी सॉफ्टवेयर को अपडेट कर सकते हैं और Firmware भी सॉफ्टवेयर है इसलिए इसे भी अपडेट किया जा सकता है लेकिन 2013 से पहले ऐसा संभव नहीं था।

इससे पहले Firmware का प्रोग्राम केवल एक ही बार हार्डवेयर के साथ लोड होकर आता था लेकिन किसी Bug यानी Error के कारण जब Hackers ने Firmware को हैक किया था तभी से Firmware का अपडेट आना शुरू हो गया है।

Firmware पहले से ही किसी प्रोडक्ट से जुड़ा हुआ आता है। जब ये खराब हो जाता है या फिर उस प्रोडक्ट को बनाने वाली कंपनी को ऐसा लगता है कि ये डिवाइस ठीक तरीके से काम नहीं कर रहा है या इसमें कोई प्रॉब्लम है, Error है तो ऐसे में कंपनी Firmware को अपडेट करती है।

कई इलेक्ट्रॉनिक कंपनी इस प्रोडक्ट की टेक्नोलॉजी के आधार पर हार्डवेयर के साथ Compatible firmware update करवाते रहते हैं ताकि ये Updated device नई और Advanced operations निर्देशों के साथ अपग्रेड हो जाए।

Firmware Update hardware की परफॉर्मेंस में सुधार करने या नए फीचर्स को जोड़ने के लिए जारी किए जाते हैं। Firmware को अपडेट करने से ये आपके डिवाइस की कार्यक्षमता को बढ़ाने में भूमिका निभाता है।

अपडेट हो जाने के बाद वो डिवाइस नए डिवाइस के समान काम करता है साथ ही उसकी परफॉर्मेंस को और भी बेहतर बनाता है।

Firmware को अपडेट करने के लिए आप सीधे प्रोडक्ट के मैन्युफैक्चरर्स की वेबसाइट से Updated version को डाउनलोड कर सकते हैं या उसकी सीडी और डीवीडी का उपयोग करके भी आप इसे अपडेट कर सकते हैं।

डिवाइस के फर्मवेयर को अपडेट करना कोई मुश्किल काम नहीं है बस जब भी आपका सिस्टम अपडेट होने के लिए तैयार रहेगा तब वह आपको सूचित करेगा।

software update करने के लिए उसके बाद अब कंपनी की वेबसाइट से और अपडेट करने वाले सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करके इंस्टॉल करके रन कर सकते हैं।

फिर सिस्टम को शट डाउन करके उसे रीस्टार्ट करना होता है तो इस तरीके से आपके सिस्टम का फर्मवेयर अपडेट हो जाएगा। Firmware सॉफ्टवेयर अपडेट करने से पहले आपको ये ध्यान रखना है कि जब आप Firmware अपडेट कर रहे हो तो आपकी डिवाइस बंद नहीं होनी चाहिए।

इससे आपकी डिवाइस खराब होने का खतरा होता है। यहां पर ध्यान रखने वाली एक और बात ये है कि केवल वही अपडेटेड सॉफ्टवेयर को आप भरोसेमंद मान सकते हैं जो सीधे Manufacturers or software कंपनी के द्वारा भेजे जाते हैं।

किसी भी सॉफ्टवेयर को अपडेट करने के लिए कभी भी थर्ड पार्टी के सोर्स पर भरोसा नहीं करना चाहिए क्योंकि हो सकता है कि इससे आपके सिस्टम में वायरस अटैक हो जाए।

उतना ही महत्वपूर्ण है सिस्टम पर गलत कंप्यूटर अपडेट करने से बचना। एक डिवाइस के Firmware को दूसरी डिवाइस पर अपडेट करने से पहले वो पहले की तरह काम नहीं कर सकता।

और हो सकता है कि वो अपडेट आपके Firmware को करप्ट कर दे जो डिवाइस के काम करने को गंभीर रूप नुकसान पहुंचा सकता है।

Firmwareअपडेट करने से पहले ये देखें कि आपके हार्डवेयर का मॉडल नंबर उस Firmware Software से मैच कर रहा है या नहीं। उसके बाद ही आप उस सॉफ्टवेयर को डाउनलोड करें।

इन्हें भी पढ़ें:

Conclusion

उम्मीद है कि आपको इस पोस्ट से Firmware Kya Hai और Firmware कहां पर स्टोर होकर रहता है और इसे समय समय पर अपडेट करते रहना क्यों जरूरी है ये सारी चीजें समझ में आ गई होगी।

इस पोस्ट को देखने के बाद अगर कभी भी आपसे कोई ये सवाल पूछे कि Firmware क्या होता है तो आप आसानी से इसका जवाब दे पाएंगे।

मुझे आशा है कि आप इस पोस्ट को शेयर करके अपना प्यार बरसाएंगे तो देर किस बात की है अभी अपने दोस्तों से इस जानकारी को शेयर कीजिए ताकि वे भी इस जानकारी से वंचित न रह पाएं।

Sharing is Caring 🙂

You may also like...