Chief Justice of India कैसे बनें [ 2021 Complete Guide ]

Chief justice of India:- कभी कभी कुछ शब्दों को सुनकर ऐसा लगता है कि लोग काम क्या करते हैं जैसे News Channels में या अखबारों में आपने पढ़ा है कहीं भी देखा सुना है और कुछ Words ऐसे होते है, कुछ जॉब प्रोफाइल ऐसी होती है जिनके बारे में बहुत Curosity होती है कि कैसे काम किया जाता है और यहाँ तक पहुँचने के लिए क्या किया जाता है।

तो अगर आपके दिमाग में Chief Justice को लेकर कुछ ऐसे सवाल है तो आज की इस पोस्ट में आपको काफी कुछ पता चलने वाला है।

तो बात ऐसी है कि Supreme Court Highest Judicial Court होता है और इसे इंडिया में मोस्ट पावरफुल पब्लिक इंस्टीट्यूशन माना जाता है।

Chief Justice of India यानि CJI यानि मुख्य न्यायाधीश सुप्रीम कोर्ट का हेड होता है और सुप्रीम कोर्ट के सभी एडमिनिस्ट्रेटिव फंक्शंस को कंट्रोल और आर्गेनाइज करने की ड्यूटी Chief Justice की होती है।

Chief Justice की पोजिशन बहुत ही रिस्पांसिबिलिटी वाली होती है और अगर आप भी इस पोजिशन पर पहुँचने की चाहत रखते हैं तो आपको इससे जुड़ी सभी खास बातें जाननी चाहिए।

इसलिए आज मैं इस पोस्ट में आपके लिए Chief Justice of IndiaChief Justice of India बनने से जुड़ी सारी जरूरी जानकारियां लेकर आया है इसीलिए इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें।

तो चलिए शुरू करते हैं और सबसे पहले जानते हैं कि Chief Justice of IndiaChief Justice of India की नियुक्ति कैसी होती है।

Chief Justice of India की नियुक्ति कैसी होती है?

Chief Justice of India Kaise Bane in 2021 Complete Guide

हमारे देश के संविधान में मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति को लेकर के अलग से कोई प्रावधान नहीं है। ऐसे में सुप्रीम कोर्ट के सबसे सीनियर जज को मुख्य न्यायाधीश बनाया जाता है।

इस प्रोसेस में Chief Justice का सिलेक्शन करते टाइम उनकी उम्र को नहीं देखा जाता है बल्कि उनके एक्सपीरियंस माना जाता है यानी जो जज सुप्रीम कोर्ट में सबसे ज्यादा समय से अपॉइंट होगा वो ही मुख्य न्यायाधीश बनेगा।

Chief Justice of IndiaChief Justice of India के सेलेक्शन में कुछ और कंडीशंस भी शामिल हो सकती है। CJI के सेलेक्शन के लिए प्रेसिडेंट सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट के जज से कंसल्ट करते हैं और उसके बाद नए मुख्य न्यायाधीश को शपथ दिलाते हैं।

वर्तमान में Chief Justice of India N.V. Ramana है तो अब आप ये तो जान ही गए होंगे कि डायरेक्ट CJI नहीं बना जा सकता है बल्कि सुप्रीम कोर्ट जज बनने के बाद ही सीनियर जज Chief justice बनते हैं।

यानी अब आपको सुप्रीम कोर्ट जज बनने के प्रोसेस को समझना चाहिए। तो चलिए सुप्रीम कोर्ट जज बनने के प्रोसेस को समझते हैं।

Supreme Court Judge बनने की प्रोसेस क्या है?

सुप्रीम कोर्ट जज बनने के लिए क्राइटेरिया क्या है इसकी बात करे तो कुछ Points Mention किये गए है जिन्हें आप follow कर सकते है:-

  1. कैंडिडेट सिटिजन ऑफ इंडिया होना चाहिए।
  2. कैंडिडेट कम से कम 5 साल तक हाईकोर्ट में जज रहा हो
  3. या हाईकोर्ट में एडवोकेट के तौर पर कम से कम 10 साल का एक्सपीरियंस रखता हो।

सुप्रीम कोर्ट जज बनने के लिए मिनिमम एज लिमिट नहीं होती है लेकिन सुप्रीम कोर्ट जज के रिटायर होने की एज सिक्सटी फाइव यानी 65 साल निश्चित होती है।

एजुकेशन की बात करें तो सुप्रीम कोर्ट जज बनने का प्रोसेस आपके स्कूल से शुरू होता है यानी सबसे पहले आपको ट्वेल्थ क्लास पास करनी होगी जो किसी भी स्ट्रीम यानि कि साइंस, आर्ट्स, कॉमर्स से की जा सकती है।

इसके बाद आपका Law में बैचलर डिग्री लेना बहुत जरूरी है क्योंकि सुप्रीम कोर्ट जज बनने और उसके बाद CJi बनने का रास्ता Law की Books से होकर ही जाता है।

इसके लिए आपको Clat जैसे Entrace Test देने चाहिए ताकि आपको इंडिया के बेस्ट कॉलेजेज में से किसी एक एलएलबी प्रोग्राम में एडमिशन मिल सके।

एलएलबी प्रोग्राम कंप्लीट करने के बाद आपको लॉयर के तौर पर प्रैक्टिस करनी होगी और लॉयर बनने के बाद हाईकोर्ट जज बनने का प्रोसेस शुरू होगा जिसमें आपको सब ऑर्डिनेट कोर्ट में जज बनना होगा।

यानी आपको भारत के किसी भी राज्य में 10 साल तक जुडीशियल आफिस की सर्विस करनी होगी या किसी भी स्टेट हाईकोर्ट में अधिवक्ता के तौर पर 10 साल का एक्सपीरियंस लेना होगा।

इसके अलावा अगर आप एलएलबी के बाद ही सबऑर्डिनेट कोर्ट के जज बनना चाहते हैं तो आपको कॉम्पिटिशन फेस करना होगा और जुडिशल सर्विस एग्जाम क्लियर करना होगा। ये Exam स्टेट पब्लिक सर्विस कमीशन द्वारा कंडक्ट किया जाता है।

हर स्टेट हाईकोर्ट द्वारा जजों की वेकेंट पोस्ट भरने के लिए भी कंडक्ट किया जाता है। इस हायर जुडिशल सर्विस एग्जाम में बैठने के लिए कैंडिडेट का अधिवक्ता के तौर पर 7 साल का एक्सपीरियंस होना जरूरी है।

इस एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप हाईकोर्ट जज बन सकेंगे तो हाईकोर्ट में कम से कम 5 साल जज के रूप में रहने के बाद आप सुप्रीम कोर्ट जज बनने की कतार में आ सकेंगे।

और अगर आप सुप्रीम कोर्ट जज रहते हुए सबसे सीनियर जज होंगे और Chief Justice बनने की सभी जरूरी कंडीशंस को पूरा कर सकेंगे तो आप Chief Justice of India की पोजिशन पा लेंगे।

इन्हें भी पढ़ें:-

Conclusion

So friends ये थी Chief justice of India के बारे जानकारी कि Chief Justice of India क्या है और Chief Jusice of India बनने की प्रोसेस क्या है?

अगर आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे अपने सोशल मीडिया हैंडल्स पर भी जरूर शेयर ताकि आपके बाकी दोस्त भी इस जानकारी से वंचित न रह पाएं।

Thanks for reading

You may also like...